Connect with us

Finance

Top 10 reasons for car Insurance claim rejection in hindi

Top 10 reasons for car Insurance claim rejection in hindi : आज के समय में लगभग हर व्यक्ति कार इंश्योरेंस कराता ही है जिसके पास कार होती है, जिसको कराने के कुछ प्रमुख कारण हो सकते हैं पहला तो ये की यदि एक्सीडेंट के कारण उस व्यक्ति की गाड़ी को कोई नुकसान होता है तो वो इंश्योरेंस कंपनी उसको सही करा कर देगी ।

दूसरा यह हो सकता है की यदि वह व्यक्ति की दूसरे व्यक्ति की प्रॉपर्टी या आसन शब्दों में कहें तो गाड़ी को कोई नुकसान पहुंचता है या एक्सीडेंट कर देता है तो उसकी भी भरपाई इंश्योरेंस कंपनी ही करती है, और तीसरा है की यदि उस व्यक्ति की गाड़ी चोरी हो जाती है तो उसकी भरपाई भी कार इंश्योरेंस कंपनी ही करती है।

कुल मिला कर बात यह है की कार इंश्योरेंस कराने का सबसे प्रमुख उद्देश्य यही होता है की अपने आप को फाइनेंशियल सिक्योर कर लेना। जिससे अचानक आने वाली कार से जुड़ी आपदा को इंश्योरेंस कंपनी के जिम्मे कर दिया जाय और अपनी ज्यादा हानि न हो पाए।

लेकिन कभी – कभी ऐसा भी देखा जाता है की कार इंश्योरेंस का क्लेम रिजेक्ट हो जाता है तो आज हम आपको इसी के बारे में बताने जा रहे हैं की दस प्रमुख कारण(Top 10 reasons) कौन से हैं जिससे कार इंश्योरेंस क्लेम रिजेक्ट होते हैं (responsible for car insurance claims rejection)।

इनके कारणों के साथ ही साथ हमने इसके कुछ सुझाव भी दिए हैं जिनको आप गहनता से फॉलो करते हैं तो हमे उम्मीद है की आपका कार इंश्योरेंस क्लेम कभी रिजेक्ट नही होगा और आपके “2022 car Insurance claim rejection” में भी काफी सहायक होगा।

Top 10 reasons for car Insurance claim rejection 2022

1. Fraudulent Claim

यदि आपने अपनी गाड़ी से जुड़ी कई जरूरी सूचना या खराबी का जिक्र नहीं किया है तो ये फ्रेडिलेंग क्लेम माना जाता है। आइए एक उदाहरण से समझते हैं।

उदाहरण : – रितिक की कार में पहले से कुछ खराबी थी जिसको उसने अपनी कार इंश्योरेंस कंपनी के साथ साझा नही किया। उसके इंजन में भी समस्या थी और गाड़ी में से आवाज आती थी, और वो कहता है की अभी इंश्योरेंस के बाद जब गाड़ी का एक्सीडेंट हुआ है तभी ये डेंट आया है और तभी से गाड़ी में आवाज आ रही है और अन्य समस्याएं हैं।

दरअसल होता ये है की जब आप इंश्योरेंस क्लेम सबमिट करते हैं तो कंपनी के तरफ से एक सर्वेयर अप्वाइंट किया जाता है। जो की आपकी गाड़ी को अच्छे से चेक करता है और जितना आपने बताया है उससे ज्यादा खामियां निकलती हैं तो उस क्लेम को रिजेक्ट कर दिया जाता है।

सुझाव :- कार इंश्योरेंस कंपनी को सही सही जानकारी प्रदान करें।

2.Drink & Drive

दारू पीकर गाड़ी चलाना गैर कानूनी तो है ही लेकिन यदि ऐसे में आपकी गाड़ी का किसी दूसरी गाड़ी के साथ एक्सीडेंट हो जाता है, और जांच के दौरान पता चलता है की आपने शराब का सेवन किया था। तब भी आपका कार इंश्योरेंस का क्लेम रिजेक्ट कर दिया जाएगा।

और भारत में कोई भी ऐसी कंपनी नहीं है जो की ड्रिंक एंड ड्राइव पर कार इंश्योरेंस को एक्सेप्ट करती हो।

सुझाव :- दारू पीकर गाड़ी न चलाएं।

3.Driving without Driver’s License

यदि आप अठारह वर्ष से कम आयु के हैं या ज्यादा के भी है और आपके पास ड्राइवर लाइसेंस नहीं है, या आपने उसको रिन्यू नही कराया है। तब बिना valid ड्राइवर लाइसेंस होने की स्तिथि में यदि आपसे कोई एक्सीडेंट हो जाता है तो उसकी भरपाई भी इंश्योरेंस कंपनी नहीं करेगी।

और आपको यदि ट्रैफिक पुलिस ने ऐसे गाड़ी चलाते हुए पकड़ लिया तो उसकी भरपाई अलग से करनी पड़ सकती है।

सुझाव :- बिना ड्राइवर लाइसेंस के गाड़ी न चलाएं। अब 2022 में ड्राइविंग लाइसेंस बनना और आसान हो चुका है तो कृपया ड्राइवर लाइसेंस अवश्य बनाएं।

4.Delay In Claim Intimation

मान लीजिए आपकी गाड़ी का या आपकी गाड़ी से एक्सीडेंट हो जाता है तो ऐसी परिस्थिति में आपको इंश्योरेंस कंपनी को पॉलिसी के अनुसार तुरंत सूचित करना होता है। अन्यथा आपका कार इंश्योरेंस रिजेक्ट कर दिया जा सकता है जिसकी पूरी अथॉरिटी कंपनी के पास होती है।

सुझाव :- अपनी कार इंश्योरेंस कंपनी को तुरंत टोल फ्री नंबर पर सूचित करें, जो की आपकी पॉलिसी के पेपर पर दिया होता है।

5.You Don’t Own the Car You Drive

मान लीजिए कोई व्यक्ति है जिसने एक सेकंड हैंड गाड़ी खरीदी है और उसने अपने नाम से इंश्योरेंस तो करा लिया लेकिन आरसी (registration certificate) ट्रांसफर नहीं कराई तब ऐसे में भी वो इंश्योरेंस क्लेम नहीं कर पाएगा।

सुझाव :- इसके लिए आप सबसे पहले अपनी आरसी को अपने नाम पर कराइए।

6.Negligence

यदि आप लापरवाह हैं तब आपको अपने जीवन में ही नही बल्कि कार इंश्योरेंस क्लेम में भी काफी घाटा उठाना पढ़ सकता है। आइए उदाहरण से समझते हैं।

उदाहरण 1 :- सचिन चकमा के घर पर कोई व्यक्ति आता है और वह कहता है की लाइए अपनी गाड़ी की चाबी दीजिए मैं कार इंश्योरेंस कंपनी की तरफ से आया हूं। ऐसे में वह बेचारे मूर्ख सचिन चकमा उनकी जांच पड़ताल किए बिना उसको चाबी देते हैं और वो गाड़ी लेकर फरार हो जाता है तब यह उनकी लापरवाही मानी जाएगी और कार इंश्योरेंस क्लेम नहीं हो पाएगा।

उदाहरण 2:- मान लीजिए रितिक चकमा नाम का एक व्यक्ति है जिसकी गाड़ी चोरी हो जाती है, तब उससे कार इस्यूरेंस कंपनी डुप्लीकेट चाबी मांगती है। और उसके पास चाबी नही होती है तो इसकी भी भरपाई कार इंश्योरेंस कंपनी नहीं करेगी।

सुझाव :- लापरवाही न बरतें।

7.Violence of Policy Terms and Conditions

यदि आपने प्राइवेट कार इंश्योरेंस लिया है और आप इसको कमर्शियल के लिए उपयोग में लाना चाह रहे हैं तब भी ये आपकी बहुत बड़ी भूल मानी जायेगी।

सुझाव :- कृपया करके पॉलिसी को अच्छे से समझें और कंपनी के नियमो को भंग करने का प्रयास न करें।

8. Modified Car without Informing Insurance Company

यदि आप अपनी कार में कोई मोडिफिकेशन करते हैं और उसकी सूचना अपनी कार इंश्योरेंस कंपनी को नहीं देते हैं तब भी एक बड़ी समस्या हो सकती है और आपका कार इंश्योरेंस क्लेम नहीं किया जाएगा।

सुझाव :- अपनी कार इंश्योरेंस कंपनी को अपने हर कृत्य से अपडेटेड रखें।

9.Mis Representation of Facts

यदि मान लीजिए कि आपकी कार का इंश्योरेंस पहले से कहीं था और उसकी जानकारी आपने मौजूदा इस्योरेंस कंपनी को नहीं दी है।

तब ऐसा करके आप बच नहीं पाएंगे क्योंकि ऐसे में आप तथ्यों को तोड़ मरोड़ कर दिखाने का प्रयास कर रहे हैं। आपका क्लेम रिजेक्ट कर दिया जाएगा।

सुझाव :- पुरानी सर्विस हिस्ट्री और insurer की जानकारी मौजूदा इंश्योरेंस कंपनी को अवश्य दें।

10.Car Insurance Policy Lapsed

आपने कार इंश्योरेंस कराया था और अब उसकी समय अवधि खत्म हो चुकी है तब भी आपको कार इंश्योरेंस क्लेम नहीं मिल पाएगा और उसको रिजेक्ट कर दिया जाएगा।

सुझाव :- अपने इंश्योरेंस पीरियड के समाप्त होने से एक सप्ताह या 10 दिन पहले ही उसको रिन्यू अवश्य कराएं।

• हम उम्मीद करते हैं को आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी और अब आपको “Top 10 reasons for car Insurance claim rejection” के बारे में भी पता चल गया होगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.